आठवीं पास महाठग सुरेश उर्फ भैराराम भेरिया के बड़े ठगी के कारनामे

0

गहलोत के बेटे के नाम से निकलवाई ओडी
जेल में बंद था तो जेलर के रिश्तेदार से 6 लाख रु. ठगे
लोगों की हूबहू आवाज निकाल लेता है 8वीं पास भेराराम
खबर ऑफ़ इंडिया
राजस्थान में सबसे शातिर ठग पकड़ा गया है। यह एसपी विधायक समेत मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव के नाम से भी ठगी कर चुका है। राज्य के 16 जिलों में लोगों को अपना शिकार बना चुका महाठग भेराराम जिस जेल में रहा, उसके जेलर के रिश्तेदार से भी छह लाख रुपए की धोखधड़ी कर चुका है। हाल ही में इसने जयपुर में थानाधिकारी बनकर एक ज्वेलर से तीन लाख पचास हजार रुपए ठगे।
सुरेश घांची उर्फ भेरिया उर्फ भेराराम राजस्थान सहित मध्यप्रदेश और गुजरात के विधायकों, व्यापारियों और पुलिस अधिकारियों को ठग चुका है। महाठग भेरिया का क्राइम रिकॉर्ड निकाला तो कई चौंकाने वाली बातें सामने आई। पाली जिले के रजतनगर का रहने वाला भेराराम सिर्फ आठवीं पास है और लोगों की हुबहू आवाज कॉपी कर लेता है। पुलिसकर्मी भी इसके सामने कुछ भी बोलने से कतराते हैं। कही भेरिय उसकी आवाज कॉपी नहीं कर ले
इंदौर के भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे से भी रुपए मांग चुका है। यह कभी एसपी तो कभी विधायक बनकर बडे-बड़े बिजनेसमैन से बीमारी का बहाना बनाकर रुपए ऐंठता है। इसके खिलाफ 60 से ज्यादा ठगी के मामले पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज हैं।
भेराराम पुलिस अधिकारियों के नाम पर नीचे स्तर के पुलिसकर्मियों को कॉल कर केस में फाइल जांच बदलवा लेता है। साथ ही लोगों से भी केस में मदद के नाम पर रुपए लेता है। पकड़े जाने के बाद जेल से बाहर आते ही फिर से यही काम करने लगता है। हाल ही में जेल से छूट कर आने के बाद जयपुर के ज्वेलर से 3.50 लाख रुपए माणक चौक थानाधिकारी बनकर खाते में डलवा लिए थे। ज्वेलर ने थानाधिकारी से रुपए मांगे तो पूरे खेल का पर्दाफाश हुआ। फिलहाल, पुलिस ने इसे रिमांड पर ले रखा है।
जुए की लत व शान शौकत ने बनाया शातिर ठग
सुरेश के खिलाफ पहला मामला 2006 में सामने आया था। जुए की लत को पूरा करने के लिए छोटी-छोटी चोरियां करने लगा था। बाद में ठगी करने लग गया था। 15 साल में सुरेश ने राजस्थान में 16 जिलों में 60 ठगी कर डाली थी। सबसे ज्यादा पाली, जयपुर, जोधपुर, कोटा, अजमेर, कोटा, बीकानेर, सिरोही, चितौडगढ़, सीकर, चूरू, बाडमेर, गंगानगर, बाडमेर, हनुमानगढ़, राजसमंद में दर्ज है।
महा ठग भेरिया के यह ठगी के कारनामे
पाली एसपी बनकर चितौडगढ़ विधायक से मांगे 10 लाख
चितौड़गढ़ के विधायक चंद्रभान सिंह को पाली एसपी दीपक भार्गव बनकर कॉल कर दिया। एसपी की आवाज में बात करके उसने बोला कि मेरे एक रिश्तेदार जयपुर के अमेरिकन अस्पताल में भर्ती है। उनके इलाज के लिए 10 लाख रुपए चाहिए। विधायक ने रुपयों की व्यवस्था कर ली। बाद में एसपी को रुपए भेजने की बात पूछीं तो पता लगा उन्होंने कोई फोन नहीं किया, फिर पूरे मामले का खुलासा हुआ। विधायक ठगी होने से बच गए थे। तब सुरेश को गिरफ्तार कर लिया था।

मुख्यमंत्री गहलोत का बेटा बनकर शोरूम मालिक को ठगा
सुरेश ने सितम्बर 2019 में जोधपुर के ऑडी शोरूम मालिक को फोन कर बोला कि मैं मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का बेटा वैभव बोल रहा हूं। मेरे एक पहचान वाले शोरूम आ रहे है। उन्हें एक ऑडी कार दे देना। सुरेश शोरूम में गया और मैनेजर को 50.75 लाख का चेक देकर गाड़ी लेकर चला गया। बाद में चेक बाउंस हो गया तो उन्होंने वैभव गहलोत को फोन किया, तब पता लगा कि उन्होंने कोई कॉल नहीं किया। ऐसे ही पाली के पूर्व विधायक भीमराज भाटी की आवाज निकाल दो गाड़ी शोरूम से ले गया था।

इंदौर एसपी बनकर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे से मांगे 10 लाख
सुरेश ने जनवरी 2020 में इंदौर एसपी की आवाज बनाकर भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय को फोन किया था। वह भी विधायक है। उन्हें फोन करके बोला कि मेरे परिजन के इलाज के लिए 10 लाख रुपए की जरूरत है। खाता नंबर दे रहा हूं, उनके खाते में जल्दी रुपए जमा करवा दें। मामले का खुलासा हुआ तो सुरेश पकड़ा गया।
जेलर की आवाज बदलकर 6 लाख ठगे
सुरेश पाली जेल में ठगी के मामले में बंद था। वह बंदियों से मुलाकात के दौरान जेल अधीक्षक से मिला। उसने हूबहू अधीक्षक की आवाज कॉपी कर ली। इसके बाद पाली जेल अधीक्षक के नाम से फोन कर उनके रिश्तेदार से 6 लाख रुपए मांग लिए। खुद के बैंक खाते में रुपए जमा करवा लिए थे। बाद में जेल अधीक्षक को इसका पता लगा तो पूरे मामले का खुलासा हुआ।

जोधपुर रेंज आई जी, पाली एसपी और जालौर ए एसपी के नाम से ठगी
भेरिया बहुत शातिर है। यह एक बार किसी से मिलता है तो उसकी आवाज कॉपी कर लेता है। बाद में उसकी डिटेल लेकर उनके रिश्तेदारों व बडे बिजनेसमैन को कॉल कर रुपए मांगता है। माउंटआबू में मजिस्ट्रेट के नाम से 6 लाख रुपए ठग चुका है। इसके अलावा जोधपुर के रेंज आई जी, पाली एस पी जालौर के ए एस पी के नाम से रुपए ले चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here