एक से करोड़ तक संख्याओं का गुणनफल 1 मिनट में बता देते हैं किसान तुलछाराम जाखड़

0

राजस्थान के नागौर जिले में रिया बड़ी उपखंड के ग्राम लापोलाई के किसान तुलछाराम जाखड़ आज अपनी उम्र के दराज पर हैं बुजुर्ग किसान की उम्र अब 70 वर्ष से अधिक हो चुकी है किंतु अपने जीवन काल में किसान तुलछाराम जाखड़ गणितज्ञ के रूप में अपनी पहचान से जाने पहचाने जाते हैं।

गणितज्ञ किसान तुलछाराम जाखड़ के परिचय से पहले हमें उसी युग में संसाधनों के बारे में भी गौर करते हुए 70 के दशक में जाना होगा जब बड़े कस्बों के अलावा गांव में शिक्षा का कोई माध्यम नहीं था संसाधन नहीं थे पढ़ने के लिए आवागमन के साधन भी नहीं थे ऐसी विकट परिस्थितियों में पढ़ लिखकर कुछ बनना सहज नहीं था ऐसे समय में खेतों में अनाज का बंटवारा हो या मंडी से अनाज भेज कर आए किसान का कोई भी हिसाब हो अर्थात गणित से संबंधित जो भी सवाल हो उसे हल करने के लिए गणितज्ञ तुलछाराम जाखड़ की आवश्यकता उस समय अत्यधिक थी अब जब संसाधन है हमारे हाथ में मोबाइल है कंप्यूटर है तो ऐसी विरल प्रतिभाएं अब हाशिए पर है गणितज्ञ तुलछाराम जाखड़ से रूबरू जब हम हो रहे हैं तो हम उन्हीं की जुबानी उनकी कहानी के रूप में एक रिपोर्ट के रूप में पेश है।
रिया बड़ी उपखंड के ग्राम लवली में रहने वाले किसान तुलछाराम की एक शिष्ट मुलाकात उपखंड अधिकारी सुरेश के एम के साथ हुई उपखंड अधिकारी सुरेश के एम को जब इनके गणित की प्रतिभा का पता चला तो इन्होंने भी किसान तुलसाराम के गणित की प्रतिभा का आंकलन किया और आंकलन के बाद किसान तुलछाराम को सम्मानित भी किया साथ ही उपखंड अधिकारी सुरेश केएम कहा कि ऐसी प्रतिभाएं मेरे को फ्रेंड में है इन पर हमें गर्व है इस दौरान किसान तुलछाराम जाखड़ ने बताया कि

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here