गांव में बैठे अंतिम गरीब तक योजना का लाभ पहुंचे : जिला कलेक्टर जितेंद्र सोनी

0

कागजों में दम तोड़ती योजनाओं के बजाय गांव की मिट्टी तक योजना का लाभ पहुंचाने में प्रशासन रखता है विश्वास:

लाडेसर योजना के तहत मेड़ता में जिला कलेक्टर के मुख्य आतिथ्य में पोषक किट वितरण कार्यक्रम सम्पन्न

खबर ऑफ इंडिया की सामाजिक सरोकार पर खास खबर

जिला कलक्टर डॉ जितेंद्र कुमार सोनी की पहल से आरम्भ कुपोषित बच्चो के लिए लाड़ेसर योजना में शुक्रवार मेड़ता के राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय में कुपोषित बच्चों के लिए पोषक कीट वितरण कार्यक्रम संपन्न हुआक्ल

रोटरी क्लब मेड़ता के आह्वान पर आयोजित लाडेसर योजना में पोशाक किट वितरण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित जिला कलेक्टर डॉ सोनी ने कहा कि हमें कामकाज में दम तोड़ने वाली योजनाएं नहीं बल्कि गांव की मिट्टी तक और अंतिम छोर पर खड़े गरीब तक योजनाओं का लाभ पहुंचे प्रशासन का यही प्रयास रहा है इसी के तहत नागौर जिले में कुपोषित बच्चों के लिए लाडे सर के नाम से योजना का आरंभ किया गया है योजना में सभी विभागों का सहयोग प्राप्त हुआ है जिला कलेक्टर डॉक्टर सोनी ने कहा कि किसी अच्छे काम के लिए चेहरा एक होता है किंतु उस अच्छे काम के पीछे अनेक चेहरे होते हैं इसी तरह लाडे सर योजना में प्रशासन को सभी संस्थाओं का सहयोग प्राप्त हुआ है ।

कोविड-19 महामारी में हमने सब ने मिलकर काम किया है और इसे लड़ाई लड़ी है जहां कोई भी कमी आ रही है अब उसे हम सुधारने का प्रयास कर रहे हैं।
नागौर जिले की धरती पर भामाशाह ने बढ़-चढ़कर सहयोग दिया जब ऑक्सीजन की कमी कोविड-19 सामने आई लोगों ने एक दूसरे की मदद करते हुए एक सराहनीय कदम उठाया परिणाम यह है कि आज संपूर्ण जिले में तीनों पचास से अधिक ऑक्सीजन कंसंट्रेटर हमारे पास उपलब्ध हैं साथ ही बड़े कस्बों में ऑक्सीजन प्लांट का कार्य प्रगति पर है।

डॉक्टर सोनी ने लाडेसर योजना को विस्तार से बताते हुए कहा कि जून में इस योजना की शुरुआत सर्वे के द्वारा की गई है संपूर्ण जिले में 4000 बच्चे कुपोषित मिले हैं वही 120 बच्चे अति कुपोषित श्रेणी में आए हैं उन्होंने बच्चों में कुपोषित बच्चों का मापदंड उदाहरण के बतौर कार्यक्रम में समझाते हुए कहा कि जब तक जिले में कुपोषित बच्चे हेल्थी नहीं हो जाते तब तक यह अभियान चलेगा अभियान के तहत 1 जुलाई से 7 जुलाई तक विशेष इन कुपोषित बच्चों के लिए पोषक किट वितरण किया जाएगा साथ ही 3 महीने तक इनके पोषण पर नजर रखी जाएगी ।

बच्चों को वितरित किए जा रहे हो कीट के विषय में उन्होंने बताया कि एक पोषक किट ₹206 की लागत से बनता है जिसमें तेल दलिया खिचड़ी चना चावल आदि शामिल हैं जब प्रशासन को अपने हाथ में लिया तो लाखों रुपए की बजट का सवाल सामने आया किंतु भामाशाह सामाजिक संस्था सभी लोग मदद के लिए आगे आए और एक ही आव्हान पर पूरे जिले में लाडेसर योजना कामयाब हुई।

जिला कलेक्टर डॉ सोनी ने जनता प्रधान द्वारा मेड़ता उपखंड क्षेत्र में तालाबों का जीर्णोद्धार के लिए चलाए जा रहे हरित तालाब अभियान के बारे में बताया जिस पर जिला कलेक्टर ने कहा कि प्रशासन के पास कोई भी मदद के लिए यह सूचना देकर आगे आता है तो प्रशासन उसकी सहायता के लिए 5 कदम आगे चलकर सामने आता है अतः सभी लोग प्रशासन की मदद करें सूचना प्रदान करें और सुझाव भी दे
बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की प्रधानाचार्य तारा मिश्रा द्वारा इसी विद्यालय की छात्रा के बाद यहां की प्रिंसिपल बनने पर जिला कलेक्टर ने उन्हें सम्मानित करते हुए कहा कि इससे अच्छा और क्या होगा कि जब एक बेटी ने यही अध्ययन किया और आज उसी विद्यालय की कुशल प्रशासक के रूप में लोगों को प्रेरणा दे रही है उन्होंने विद्यालय में छत पर बरसाती पानी के निकासी की बात कार्यक्रम में उपस्थित सहायक अभियंता से कहीं ।

उपखंड अधिकारी सुरेश के एम ने कार्यक्रम में कहा कि सभी जगह प्रशासन उपस्थित नहीं होता प्रशासन को आमजन की मदद की जरूरत होती है खासकर सरकारी योजनाओं में प्रशासन की खुलकर मदद करें साथ ही उन्होंने भामाशाह ओं का आभार व्यक्त करते हुए हरित तालाब में हर संभव सहयोग देने की बात कही।
जिला कलक्टर के लाडे सर नवाचार को कोरोना की संभावित किसी भी लहर से मुकाबला करने के लिए एक अहम कड़ी के रूप में समझने की बात कही उपखंड अधिकारी सुरेश के एम ने कही

रोटरी क्लब मेड़ता की अध्यक्ष मंजू सोनी ने अपने संबोधन में जिला कलेक्टर का आभार जताते हुए रोटरी क्लब द्वारा मेड़ता मे जन सहयोग से किए जा रहे कार्यों को विस्तार से बताते हुए नगर पालिका चेयरमैन से रोटरी क्लब को कार्यालय के लिए जगह उपलब्ध करवाने की मांग की

सी डी पी ओ दुर्गा सिंग उदावत ने कुपोषित आदि बच्चों के बारे में विस्तार से बताते हुए लाडेसर अभियान का महत्व बताया ।
उन्होंने बताया कि इसमें 0 से 5 वर्ष शिशुओं को आंगनवाड़ी , 6 से 15 वर्ष के बच्चों को शिक्षा विभाग विभाग के माध्यम से तथा किशोरी बालिकाओं का कुपोषण व रक्ताल्पता (एनीमिया ) से संबंधित सर्वे कार्य को सूचीबद्ध किया जा रहा है । इसमें बच्चों के कुपोषण को भामाशाह द्वारा प्रदान किए गए लाडेसर पोषण किट के द्वारा दूर किया जा रहा है तथा रक्ताल्पता वाली बालिकाओं में खून की बढ़ोतरी के लिए मेडिसन किट दिए जा रहे हैं

जिसमें फोलिक एसिड , आयरन व विटामिंस आदि की गोलियों के द्वारा हीमोग्लोबिन की मात्रा को बढ़ाया जाता है । उन्होंने कहा कि अति कुपोषित स्थिति वाले बच्चों को एमटीसी केंद्र पर रेफर किया जाना चाहिए जहां डॉक्टरों के द्वारा योजनाबद्ध व निश्चित इलाज करके कुपोषण को दूर किया जाता है । उन्होंने कहा कि कोरोना की विषम परिस्थितियों में कम से कम ऐसे बालकों को पोषण युक्त आहार देने से उस पर संभावित किसी भी रोग का प्रभाव कम होगा तथा उनका स्वास्थ्य भी सुधरेगा । यह पोषण सामग्री किट केवल कुपोषित बालकों के लिए तथा एनीमिया रक्ताल्पता से ग्रसित बालिकाओं के लिए मेडिकल किट है । उन्होंने अभिभावकों से इस पोषण सामग्री किट का उपयोग बालकों के लिए ही करने का आग्रह किया । साथ ही आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं के माध्यम से खाद्यान्न सामग्री का सदुपयोग निरंतर समयबद्धता के साथ संबंधित बालकों के लिए ही हो इसका भी पर्यवेक्षण करने का निर्देश दिया । उन्होंने कहा कि समाज जीवन में किसी भी कार्य को प्रमाणिक रुप से करने पर भामाशाह स्वयंसेवी व सामाजिक संगठनों के सहयोग की कोई कमी नहीं रहती है ।

साथ ही उन्होंने स्वस्थ और कुपोषित बच्चे के बीच तुलनात्मक अंतर बताते हुए कुपोषित बच्चों और एनिमिक बालिका की पहचान के सरल और व्यवहारिक लक्षण बताए । उन्होंने कहा कि किशोरी बालिकाओं में खून की कमी ना हो ऐसा अभिभावकों को भी ध्यान रखना चाहिए ।

आंगनबाड़ी पर्यवेक्षक ने बच्चों के स्वास्थ्य परीक्षण के तरीकों पर प्रकाश डाला । उन्होंने बताया कि इस पोषण सामग्री किट में चावल , चार तरह की दालें , भुने हुए चने , सोयाबीन तेल , गुड़ और मूंगफली का समावेश है ।

अतिरिक्त मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी ने सर्वे के माध्यम से कुपोषण से पीड़ित बच्चों को चिह्नित कर उनके समुचित उपचार के बारे में बताया

कार्यक्रम में नगर पालिका चेयरमैन गौतम तक जनता प्रधान संदीप चौधरी पुलिस उप निरीक्षक विक्रम सिंह भाटी कार्यक्रम में विचार रखें साथ ही रोटरी क्लब मेड़ता संध्या भाटी सहित क्लब की सभी बहने एवं कुपोषित बच्चों की माताएं कार्यक्रम में उपस्थित थी

रोटरी क्लब द्वारा अतिथियों एवं भामाशाह का कार्यक्रम में सहयोग देने के लिए सम्मानित किया गया ।
पोषक किट वितरण कार्यक्रम संपन्न होने के पश्चात जिला कलेक्टर मेड़ता के सामुदायिक चिकित्सालय में पहुंचे एवं वहां ऑक्सीजन प्लांट का तैयार हो रहा प्लांट के लिए फाउंडेशन नीव का निरीक्षण कर यहां उपस्थित उपखंड अधिकारी सुरेश केएम नगरपालिका सहायक अभियंता से इस कार्य को जल्द ही पूर्ण करने कि बात कही साथ ही ऑक्सीजन प्लांट का नक्शा देखने के बाद मुख्य चिकित्सा अधिकारी से यहां कोविड-19 व्यवस्थाओं की जानकारी लेने के बाद सिलेंडर खरीद के प्रस्ताव बनाकर दिए जाने की बात मौके पर कही

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here