नरेगा में छाया पानी की व्यवस्था नहीं तपती गरमी में कैसे काम करे साहब

0

नरेगा में श्रमिकों ने बताई छाया पानी की समस्या उपखंड अधिकारी ने दिए निर्देश

उपखंड अधिकारी ने किया नरेगा कार्य का निरीक्षण

खबर ऑफ़ इंडियानरेगा रियां बड़ी उपखंड अधिकारी सुरेश के एम ने शनिवार को नरेगा के तहत चल रहे खुदाई कार्य का निरीक्षण किया शनिवार को रिया बड़ी के रोहिसा रोड पर करणी माता मंदिर के सामने चल रहे नाडा खुदाई के कार्य का निरीक्षण करने मौके पर पहुंचे. मौके पर उपस्थित मेटो द्वारा निरीक्षण के समय मस्टररोल में श्रमिकों के नाम दर्ज करने का कार्य किया करते पाया गया।उपखंड अधिकारी ने सभी मेटो से इसका कारण पूछते हुए कहा कि

मस्टररोल में जब आज ही नाम दर्ज किए जा रहे हैं तो श्रमिक यहां पर क्या काम करेंगे उपस्थित मेट ने बताया कि ग्राम पंचायत के द्वारा नाडा खुदाई कार्य का मस्टरोल शनिवार सुबह 8:00 बजे ही दिया गया है जिसके कारण इसमें श्रमिक उपस्थिति एवं जॉब कार्ड का मिलान किया जा रहा है मौके पर जॉब कार्ड छाया पानी आदि की व्यवस्था नहीं पाए जाने पर उपखंड अधिकारी ने सख्त नाराजगी जाहिर करते हुए यहां पर श्रमिकों के लिए छाया पानी की व्यवस्था के निर्देश ग्रामसेवक रमेश मीणा को दिए।

200 श्रमिक को खुदाई कार्य के लिए लगाया गया हे। 

नाडा खुदाई कार्य में यहां पर 200 श्रमिक को खुदाई कार्य के तहत महा नरेगा में लगाया गया है। मौके पर उपस्थित मेट जिनको महा नरेगा में मेट का कार्य करते हुए 10 वर्ष हो गए इसके बावजूद मेट द्वारा लापरवाही बरतने को उपखंड अधिकारी ने गंभीरता से लिया है। उपखंड अधिकारी सुरेश केएम करणी माता मंदिर में नाडा निरीक्षण के बाद सथाना रोड पर चल रहे अमरत्या तालाब के निरीक्षण के लिए पहुंचे ।

अमर्त्या तालाब को

के तहत पूर्व में श्रमिकों द्वारा करवाए गए कार्य को मौके पर देखने के बाद कार्य पर संतोष व्यक्त किया। उपखंड अधिकारी ने खुदाई के दौरान गहरे गड्ढे को पुन समतलीकरण करने के निर्देश ग्राम सेवक को दिए।उपखंड अधिकारी ने मौका स्थिति को देखने के बाद कहा कि खुदाई से तालाब में बने गहरे गड्ढे बारिश के बाद पानी भरने के कारण जानवरों एवं अनजान बच्चों के लिए खतरा बन सकते हैं।

बारिश से पूर्व इन गड्ढों का आवश्यक रूप से समतलीकरण करवाना जरूरी है।

यहां उपस्थित महिला श्रमिकों ने कहा कि मौके पर छाया पानी की व्यवस्था नहीं होने से ऐसी तपती धूप

में काम करना श्रमिकों के लिए बड़ी परेशानी है इस बात का जवाब देते हुए ग्राम सेवक ने उपखंड अधिकारी

से कहा कि टेंट एवं पानी की टंकी की व्यवस्था के लिए मेंट को निर्देश दिए हुए हैं किंतु मेट द्वारा मौके पर

यह व्यवस्था नहीं की गई है इस पर मेट के विरुद्ध कार्रवाई करते हुए तुरंत मौके पर टेंट एवं

पानी की व्यवस्था के लिए टंकी मंगवाई गई ।

दिए आवस्यक दिशा निर्देश

मौके पर यहां भी छाया पानी की व्यवस्था नहीं मिलने पर उपखंड अधिकारी ने सभी मेट को। श्रमिकों के

लिए पानी एवं छाया की व्यवस्था के सख्त पालना के निर्देश प्रदान कर भविष्य। में लापरवाही नहीं किए

जाने की चेतावनी दी। मौके पर उपस्थित श्रमिकों के पास खुदाई। कार्य करने के लिए तगारी फावड़ा गेती

अनिवार्य रूप से साथ में होने की भी बात उपखंड। अधिकारी ने कही। अमृतिया तालाब पर

ग्राम पंचायत द्वारा शनिवार से ही श्रमिकों के लिए मस्टरोल जारी किया गया था।

नागौर ज़िले की खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे   

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here