मेड़ता रोड पानी की टंकी पर चढ़ी युवती रात एक बजे उतरी

0

खबर ऑफ़ इंडिया

मेड़ता रोड़ में बाहर वर्ष से चली आ रही जमीन विवाद एवं रंजिश को लेकर शनिवार को दो परिवारों में हुई मारपीट

दोनों ही परिवारों में मारपीट की घटना के बाद एक परिवार के आरोपियों की गिरफ्तारी व खेत में रास्ते के विवाद को सुलझाने की मांग को लेकर शनिवार शाम मेड़ता रोड में जारोड़ा तिराहे पर नकारा पड़ी पानी की टंकी पर एक युवती चढ़ गई।
सूचना मिलते ही मेड़ता उपखंड अधिकारी सुरेश के एम पुलिस उप अधीक्षक विक्रम सिंह भाटी, तहसीलदार छितरसिंह जोधा, थानाधिकारी छितरसिंह शेखावत सहित पुलिस बल मौके पर पहुंचा ।
मौके पर पहुंचे प्रशासन व पुलिस ने युवती एवं उसके परिजनों से समझाइश कर टंकी पर चढ़ी युवती को नीचे उतारने के कई बार प्रयास किए पर पुलिस इन प्रयासों में विफल रही। कई बार की गई समझाइश का युवती पर कोई असर नहीं हुआ
मौके पर उपस्थित पुलिस एवं प्रशासन ने आखिरकार युवती की मांगों को पूरा करने का आश्वासन देने व उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं किये जाने का भरोसा दिया तब कहीं युवती टंकी से उतरने को राजी हुई।
उपखंड अधिकारी सुरेश के एम की समझाइस रंग

लाई और रात करीब 1 बजे युवती पानी की टंकी से नीचे उतरी।

यह था मामला/
डेगाना तहसील के दुगोरदासा निवासी रामलाल व हजारीराम विश्नोई में जमीन विवाद व मुकदमेबाजी होने के बाद धीरे-धीरे दोनों परिवार मेड़ता रोड के बाइपुरा में आकर रहने लग गए। शनिवार की दोपहर को रामलाल व दूसरे पक्ष के रामलाल विश्नोई, हजारीराम के पुत्र सुनिल आदि में जमीनी विवाद को लेकर लड़ाई-झगड़ा हो गया।
पुलिस द्वारा शाम को दोनों पक्षों का मेडिकल करवाया जा रहा था कि एक पक्ष रामलाल की पुत्री भंवरी विश्नोई विरोधी पक्ष के रामलाल व सुनील सहित कुछ लोगों की पुलिस द्वारा गिरफ्तारी करने खेत में रास्ते का विवाद सुलझाने की मांग को लेकर मेड़ता रोड स्थित जारोड़ा तिराहा के पास नकारा पड़ी पचास फिट से भी ऊपर पानी की टंकी पर चढ़ गई।

सात घंटे मशक्कत पुलिस व प्रशासन के आने के बाद पूरी रात भंवरी से समझाइश की गई ।भंवरी के परिजनों को पुलिस एवं प्रशासन ने विश्वास में लेकर कई बार टंकी पर चढ़ी भवरी से लाउड स्पीकर द्वारा बात करवाई गई किंतु भंवरी टस से मस नहीं हुई।मध्य रात्रि उपखंड अधिकारी सुरेश के एम ने कड़ी मशक्कत कर दोषियों को तुरंत गिरफ्तार करने, नियमानुसार रास्ते का विवाद हल करने , मोहले में शराब बिक्री बन्द करवाने सहित टंकी पर चढ़ने के अपराध में कार्यवाही नहीं किए जाने के आश्वासन पर युवती मानी और रात एक बजे टंकी से स्वत उतर गई। इस से पूर्व पानी की टंकी पर चढ़ी भवरी ने पुलिस एवं प्रशासन की खूब परेड कराई। उसे नीचे उतारने के लिए पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों और गांव के लोगों ने कई बार उससे बात भी की। पुलिस उसे बार-बार कहती रही कि उसकी सभी मांगों पर उचित कार्रवाई की जाएगी पर भंवरी दूसरे पक्ष के लोगों को तुरंत गिरफ्तार करने, जमीन विवाद सुलझाने व दो पुलिसकर्मियों के विरूद्ध कार्रवाई और उसकी जिला कलेक्टर व पुलिस अधीक्षक से बात कराने जैसी सभी मांगों को तुरंत पूरा करने की बात पर अड़ी रही। आखिरकार सभी अधिकारियों द्वारा उसकी मांगों को पूरा करने का आश्वासन देने व उसके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं किए जाने का भरोसा देने के बाद रात करीब 1 बजे युवती पानी की टंकी से नीचे उतरी। भंवरी के पानी की टंकी से नीचे आने के बाद डॉक्टरों ने भंवरी के स्वास्थ्य की जांच की। जब वह पूरी तरह स्वास्थ्य ठीक पाए जाने पर उपस्थित प्रशासन एवं पुलिस ने ऐसे गलत कदम नहीं उठाने के लिए सभी ने उसे समझा कर परिजनों के साथ घर भेजा गया।

प्रशासन ने किए सुरक्षित इंतजाम
युवती के पानी की टंकी पर चढ़ने की सूचना के बाद उपखंड अधिकारी सुरेश के एम ने कोई अप्रिय घटना घटित नहीं हो इसके लिए मेडता नगर पालिका कार्मिकों के साथ नेट जाल एवं स्पंज के गद्दें मंगवाए कर मौके पर रखवाए
जलदाय विभाग को नोटिस /उपखंड अधिकारी सुरेश के एम द्वारा इस घटना के बाद जलदाय विभाग मेड़ता रोड के अधिकारी को नोटिस दिया गया है नोटिस में बताया गया है कि जलदाय विभाग की इस नकारा पड़ी पानी की टंकी पर सुरक्षा इंतजाम क्यों नहीं थे? साथ ही घटना के बाद जलदाय विभाग ने इस नकारा पड़ी टंकी की छह फीट से उपर वाली सीढ़ियां तुड़वाने एवं सुरक्षा इंतजाम किए जाने की बात कही है।

मांगे मनवाने के लिए गलत ट्रेड /
राजस्थान में पिछले 25 दिन में ऐसी यह छठी घटना है। मांग मनवाने के लिए जैसे यह नया ट्रेंड चल गया हो जो गलत है वहीं टंकी एवं टावर पर चढ़ने वाले इस ट्रेंड पर अब पुलिस एवं प्रशासन द्वारा सख्त नियम कठोर कार्यवाही अमल में लाए जाने की बात लोगों ने कही है अगर ऐसे लोगो के विरुद्ध सख्त कार्यवाही नहीं होगी तो लोग अपनी मांगे मनवाने के लिए इस गलत ट्रेड का चयन करेंगे जिसे यूं कहे कि अपनी मांगो को मनवाने के लिए पुलिस एवं प्रशासन को ब्लैक मेल करना कहना ज्यादा सार्थक होगा।

खबर विस्तार से देखे मेरे यूट्यूब चैनल पर लाइक सब क्राइब जरूर करे https://youtube.com/channel/UCt3pe9CqmmqwciPRx9QzmIA

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here