शांत सरल मुंह पर कहने वाले युवा एसडीएम सुरेश के एम का हुआ तबादला

0

14 महीने के कार्यकाल में रियांबड़ी के लोगो के दिलो में बनाई जगह
कोरोना काल मे अपनी जान जोखिम में डाल अपनी टीम के साथ किया सराहनीय कार्य
वैक्सीनेशन के लोगों को किया जागरूक वहीं बजरी माफिया के लिए बने थे आंखो की किरकिरी
खबर ऑफ़ इंडिया
जन सेवा एवं लोगों को सरकारी योजनाओं की जानकारी के लिए सोशल मीडिया में हमेशा रहते सक्रिय ।
अफसर कम साधारण आदमी की कार्यशैली में आमजन से संवाद
रियांबड़ी उपखंड अधिकारी सुरेश के एम का पाली जिले के रोहट में तबादला हो गया उनकी जगह तत्कालीन एवं फागी के उपखंड अधिकारी रहे गौरी शंकर शर्मा को पुनः लगाया गया है ।
के रियांबड़ी से निंबाहेड़ा तबादला होने एवं करीब तीन माह तक रिक्त रहे रियांबड़ी उपखंड अधिकारी पद पर मार्च 2020 को कार्य ग्रहण किया था अपने सवा साल के इस कार्यकाल में उन्होंने काफी सराहनीय कार्य किया कोरोना काल के अंदर भी उन्होंने अपनी जान जोखिम में डालकर अपनी टीम के साथ प्रतिदिन रियांबड़ी ही नहीं पूरे उपखण्ड क्षेत्र में दौरा कर लोगों को जागरूक किया ।
यही नहीं उनके उत्कृष्ट और सराहनीय कार्य के चलते उन्होंने लोगों के दिलों में काफी जगह बना ली।
वैक्सीनेशन के लिए भी उन्होंने लोगों को जागरूक किया और सभी लोगों को अधिक से अधिक वैक्सीन लगाने की अपील की प्रतिदिन सोशल मीडिया के माध्यम से भी उन्होंने गरीब एवं आमजन को जिन्हें नियम जानकारी नहीं थी उन लोगो को जागरूक करने के साथ उनको तत्काल सहायता मिले इस के लिए सोसल मीडिया पर एक प्लेटफार्म बनाया। युवा अपनी मेहनत से अपना मुकाम हासिल हो इस के लिए उन्होंने संविधान एवं दर्शन शास्त्र पर फ्री कोचिंग कलाश भी ली।
के एम ने उपखंड के सभी लोगों को कोरोना महामारी के प्रति जागरूक किया तो वही वैक्सीनेशन के प्रति भी लोगो सजग और जागरूकता के प्रयास किए।
के एम का एक ही लक्ष्य था कि रियांबड़ी उपखंड क्षेत्र में एक भी व्यक्ति वैक्सीन से वंचित नही रहे और अधिक से अधिक जनता को वेक्सीन के लिए सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों को सूचना देकर जागरूक करते थे । अफसर का रोब अपने से दूर रख चिकित्सालय के सामने रात नो बजे तक आने जाने वाले लोगों को वैक्सीनेशन के बारे में जानकारी लेते ।
सराहनीय प्रयास के कारण रियांबड़ी सहित पूरा उपखंड कोरोना काल मे काफी सुरक्षित रहा । कोरोना में स्कूलों में अपना दायित्व निभा रहे शिक्षकों को बीएलओ को पुलिस प्रशासन को चिकित्सा विभाग को प्रशंसनीय सेवाएं देने पर उपखंड अधिकारी ने करोना में लगे सभी कार्मिकों को प्रशंसा प्रमाण पत्र प्रदान कर उनका हौसला बढ़ाया,वही कोरोना वायरस की दूसरी लहर में स्कूलों में लगी महिला प्रिंसिपल एवं 55 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के प्राचार्य को छूट प्रदान कर पूरे प्रदेश में अनूठी मिसाल पेश करने का प्रशंसनीय कार्य किया पूरे प्रदेश में रिया बड़ी उपखंड ही मात्र ऐसा था जिन्हें कोरोना की दूसरी लहर में महिलाओं एवं 55 वर्ष से अधिक आयु वर्ग को ड्यूटी में छूट प्रदान की गई थी उनके द्वारा किए गए कार्य की जंहा पूरा उपखंड क्षेत्र सराहना करता है तो उनके द्वारा किये कार्य को भी हमेशा रियांबड़ी उपखण्ड के लोग याद भी रखेंगे।
बजरी के लिए सिंघम बने थे / रिया बड़ी क्षेत्र अवैध बजरी खनन के नाम पूरे प्रदेश में बदनाम रहा है ऐसे समय में उपखंड अधिकारी सुरेश के एम ने अपनी जान जोखिम अपने बलबूते पर बजरी का अवैध खनन रोकने का दायित्व बखूबी निभाया रात हो या दिन बजरी के अवैध खनन को रोकने के लिए नित नए नियमों के द्वारा अवैध बजरी खनन को रोकने का सराहनीय कार्य किया, धर्म कांटा को बंद कराना, पर्यावरण के नियम, रात 8:00 बजे बाद बजरी खनन नहीं जैसे नियम उपखंड अधिकारी द्वारा यहां लगाए गए कठोर नियमों के चलते जहां शांत स्वभाव एवं शरीफ लोगों को इस काम से राहत मिली वही बजरी माफिया एवं इस धंधे से जुड़े लोगों के लिए उपखंड अधिकारी आंख की किरकिरी बन गए।
कहते हैं दोस्त से अच्छे दुश्मन होते हैं जो दुश्मनी के नाम से दुश्मन को सदैव याद करते हैं शायद यही है बजरी के कारण बजरी माफिया की आंखों में जरूर खटके माफिया एसडीएम सुरेश के एम के नाम को सदैव याद रखेगा वहीं अपने अपने होते हैं एस डी एम सुरेश के एम ने जो स्नेह जनता को दिया है और वही स्नेह एवं ग़रीबों आमजन की दुआ ली है यहां की जनता कभी नहीं भूल पाएगी इस स्नेह के कारण ही लोगों की जुबा पर है कि साहब जलद ही प्रमोशन लेकर नागौर मेंअतिरिक्त जिला कलेक्टर बन कर आए जैसे तत्कालीन एसडीएम मोहन लाल खट्नवालिया लोगों के स्नेह एवं दुआओं से आज नागौर के अतिरिक्त जिला कलेक्टर के पद पर आए हैं ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here